Skip to content
कोलेस्ट्रॉल बढ़ना एक जानलेवा समस्या: पहचानने इस स्वास्थ्य समस्या के लक्षणों को और समय पर दें ध्यान

कोलेस्ट्रॉल बढ़ना एक जानलेवा समस्या: पहचानने इस स्वास्थ्य समस्या के लक्षणों को और समय पर दें ध्यान

याद रहे कि कोलेस्ट्रॉल बढ़ना एक जानलेवा समस्या है इस लेख में जानें कोलेस्ट्रॉल के लक्षणों को पहचानने के तरीके, और उन्हें जानकर अपने स्वास्थ्य को सम्भालें। 

कोलेस्ट्रॉल के लक्षण को समझना महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह एक जानलेवा समस्या हो सकती है। अक्सर लोग इसके लक्षणों को पहचानने में कठिनाई महसूस करते हैं, लेकिन कुछ संकेत मुंह पर दिख सकते हैं जिन्हें अनदेखा नहीं किया जाना चाहिए।

कोलेस्ट्रॉल क्या होता है?

कोलेस्ट्रॉल एक प्रकार का वसा होता है जो हमारे शरीर में पाया जाता है। यह एक महत्वपूर्ण ऊर्जा स्रोत है और हमारे शरीर के लिए आवश्यक है। यह एक चिपचिपा पदार्थ होता है जो खून में जमा होता है और हमारी दीवारों को बनाने और कार्यों को सहायक करने में मदद करता है ।

क्या कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना एक गंभीर समस्या है?

मानव शरीर में अधिक कोलेस्ट्रॉल की मात्रा हानिकारक हो सकती है और हृदय रोगों का कारण बन सकती है। कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ने से नसों में ब्लॉकेज हो सकती है। इस समस्या का समय पर पता नहीं चलने से नसों के रोग, दिल के रोग, हार्ट अटैक, और स्ट्रोक जैसी जानलेवा बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। 

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के मुख्य कारण

कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं,

अनुपयुक्त आहार : अधिक तेलीय और अधिक डेयरी उत्पादों का सेवन।

अल्कोहल की अत्यधिकता: अधिक अल्कोहल सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल बढ़ सकता है।

तंबाकू का सेवन: सिगरेट या अन्य तंबाकू उत्पादों का उपयोग भी कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा सकता है।

अप्रयोज्य वजन: अधिक वजन रखने से कोलेस्ट्रॉल स्तर बढ़ सकता है।

गलत जीवनशैली: नियमित व्यायाम की कमी और अथाह बैठकी जीवनशैली के कारण भी कोलेस्ट्रॉल बढ़ सकता है।

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के खास लक्षण होते हैं जिन्हें अक्सर नजर अंदाज़ किया जाता है, जिनमें कुछ मुख्य चेहरे पर भी पाए जा सकते हैं। हम आपको कुछ इस प्रकार के लक्षण बता रहे हैं, जो कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने की संभावना को दर्शाते हैं।

कोलेस्ट्रॉल के ये लक्षण चेहरे पर दिख सकते हैं:

ज़ेन्थोमास: यह चेहरे पर मुलायम उभार होता है, जो हल्का पीला रंग धारण करता है और मुलायम होता है, जिसे ज़ेन्थोमास कहा जाता है। इस स्थिति में पलकों की त्वचा के नीचे मोम जमा हो जाता है।
कॉर्नियल आर्कस: चारों ओर कॉर्निया के चारों ओर एक पतली सफेद रेखा दिखाई देती है।
एरप्टिव ज़ेन्थोमा: चेहरे, गालों, और माथे पर पीले रंग के उभार भी उच्च कोलेस्ट्रॉल का संकेत देते हैं।
सोरायसिस: चेहरे और शरीर के अन्य हिस्सों पर त्वचा पर लाल और खुजली वाले धब्बे दिखाई दें तो तुरंत इसका इलाज कराएं।

 कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर क्या  करें

आपको कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए निम्नलिखित कदम उठाने चाहिए:

फाइबर युक्त आहार: अनाज, फल, और सब्जियों को अपनी डाइट में शामिल करें।तेल और फैट की कमी वाले आहार का सेवन करें, जैसे कि अखरोट, अलसीबीज, और अन्य अत्यंतता औषधियों का सेवन करें।

सैचुरेटेड फैट का प्रतिबंध: रेड मीट, अंडे का पीला हिस्सा, और तली हुई चीजों की बजाय प्रोटीन से भरपूर चीजों का सेवन करें।

नियमित व्यायाम: व्यायाम करने से अच्छा कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है और बुरा कोलेस्ट्रॉल कम होता है।

शराब और सिगरेट का अत्यधिक सेवन करें: धूम्रपान और अल्कोहल का सेवन कम करें या बंद करें।

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर क्या खाएं

कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने पर आपको अधिक तेलीय और अधिक डेयरी उत्पादों का सेवन कम करना चाहिए। इसके अलावा, आपको

  • तेलीय और अधिक फैट युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन कम करें।
  • मिठाई, चिप्स, और फ़ास्ट फ़ूड का सेवन परहेज करें।
  • अधिक तेल या मक्खन का उपयोग न करें।
  • रेड मीट और अधिकतम आउट प्रोसेस्ड फूड का सेवन रोकें।
  • नमक और चीनी की मात्रा कम करें।

इसे पढ़ें। कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर क्या न खाएं?

नियमित स्वास्थ्य निगरानी करें

कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने से दिल की समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए, नियमित रूप से health monitoring करना अत्यंत महत्वपूर्ण है। समय-समय पर चिकित्सक की सलाह लेना और आवश्यक जाँच-परीक्षण करवाना, सही आहार लेना, और नियमित व्यायाम करना, इन सभी कार्यों से कोलेस्ट्रॉल और दिल की समस्याओं को नियंत्रित किया जा सकता है। इसके साथ ही, आप अपने दैनिक जीवन में स्वास्थ्य निगरानी के लिए उपयुक्त स्वास्थ्य मॉनिटरिंग डिवाइस का उपयोग कर सकते हैं। उनमें बीपी मॉनिटर, पल्स ऑक्सीमीटर, और अन्य स्वास्थ्य मॉनिटरिंग उपकरण शामिल हो सकते हैं, जो आपको अपने स्वास्थ्य का पूर्ण ध्यान रखने में मदद कर सकते हैं। Dr Trust एक भरोसेमंद ब्रांड है जिससे आप घरेलू स्वास्थ्य उपकरण खरीद सकते हैं। हर उत्पाद अद्वितीय विशेषताओं के साथ आता है, इसलिए उसे चुनें जो आपकी आवश्यकताओं के लिए सबसे उपयुक्त है।

बीपी मॉनिटर, पल्स ऑक्सीमीटर, और अन्य स्वास्थ्य मॉनिटरिंग
Previous article अत्यधिक व्यायाम हृदय के लिए कैसे हो सकता है हानिकारक: बचाव और समाधान
Next article सावधान ! कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर क्या न खाएं?